नमस्ते जी ट्रस्ट की ओर से  सामान्य ग्राहक के लिये 700/- की खरीद करने पर शिपिंग फ्री एवं  ऋषि मिशन ट्रस्ट के पंजिकृत सदस्यता अभियान में शामिल हो कर ट्रस्ट द्वारा चलाई जा रही अनेक गतिविधियों का लाभ उठा सकते हैं। जैसे 1. ऋषि दयानंद सरस्वती कृत 11 पुस्तक सेट 2. Www.rishimission.com से वैदिक साहित्य खरीदने पर 5% एक्स्ट्रा डिस्काउंट (लाईफ टाईम) 3. Www.rishimission.com से वैदिक साहित्य खरीदने पर शिपिंग चार्ज (फ्री लाईफ टाईम) 4. प्रत्येक वर्ष कैलेंडर सप्रेम भेंट 5. महर्षि दयानंद सरस्वती चित्र 21×13 cm

Rishi Mission is a Non Profitable Organization In India

Cart

Your Cart is Empty

Back To Shop

Category: मुंशी प्रेमचंद

Showing the single result

  • प्रेमचन्द युग-प्रवर्तक लेखक थे। सन् 1901 से 1936 तक का समय हिन्दी-उर्दू कथा – साहित्य का युग कहलाता है और कहलाता रहेगा। उस समय राजनीति में और समाज-सुधार के आन्दोलन में मनुष्य से विचारशील और कर्मशील बनने और रूढ़िगत परम्पराओं और अन्धविश्वासों को त्यागकर आगे बढ़ने की माँग की जा रही थी। प्रेमचन्द ने इस माँग को पूरा किया। हमें प्रेमचन्द में शहरी, कस्बाई और ठेठ देहाती जीवन के सजीव चित्र मिलते हैं। इस सबसे प्रेमचन्द की शैली के विभिन्न रूप-रंगों और भाषा-ज्ञान पर प्रकाश पड़ता है और इस महान् लेखक के सामर्थ्य पर आश्चर्य भी होता है। इस संकलन में उनकी पूस की रात, पंच परमेश्वर, मंत्र, कफन, शतरंज के खिलाड़ी, सद्गति, ठाकुर का कुआँ सरीखी कालजयी 51 अनमोल कहानियाँ संग्रहित हैं।

    Sold By : The Rishi Mission Trust
    Add to cart

Cart

Your Cart is Empty

Back To Shop